Politics

जय शाह की कंपनी में 51 करोड़ की राशि विदेशों से लगी : राज बब्बर

Tues, 10 Oct 2017 12:44 AM

09_10_2017-raj-babbar


Lucknow (BNEWS*) – कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से नैतिकता के आधार पर त्यागपत्र देने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि भाजपा के ‘बेटा मॉडल की जय हो कंपनी ही सबसे तेज निकली। पहले से चल रही स्टार्टअप कंपनियां सरकार की नीतियों के कारण बंद हो गयी। किसी बिजनेस कालेज में बेटा मॉडल नहीं सिखाया जाता क्योंकि इसे जानने वाला सक्षम विद्यार्थी वही होगा जिसके अंकल प्रधानमंत्री हों और पिता शाह हो। राजबब्बर ने सात सवाल दागे और सुप्रीम कोर्ट के दो न्यायधीशों वाले कमीशन से जांच कराने की मांग की। दूसरी ओर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोमवार को प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के पुतले दहन किए।

सोमवार को राजबब्बर ने पार्टी दफ्तर में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के पुत्र जय शाह की कंपनी द्वारा 16,000 गुना मुनाफा कमाने की खबर को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि अपने पुत्र की कंपनी पर उठे प्रश्नों का उत्तर देने के बजाए शाह बचाव के रास्ते तलाश रहे हैं। राजबब्बर तंज भरी शैली में प्रधानमंत्री व भाजपा अध्यक्ष की घेराबंदी करते हुए मीडिया कर्मियों से भी उलझे। प्रवक्ता द्विजेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि राजधानी के अलावा मेरठ, गोरखपुर, अमेठी, कानपुर, बरेली, मथुरा व अलीगढ आदि में अमित शाह के पुतले दहन किए गए।

सात सवाल-

1- टेम्पल इंटरप्राइजेज कंपनी ऐसा क्या व्यापार करती थी, जो एक वर्ष में 16000 गुना कारोबार बढ़ा?

2- कंपनी क्यों बंद कर दिया गया?

3-कंपनी के खातों में 51 करोड़ की धनराशि विदेश से दर्शायी है, इसका ब्योरा सार्वजनिक हो।

4- कंपनी को 15.78 करोड़ का अन सेक्योर्ड लोन दिया गया। क्या ऐसे ऋण अन्य कंपनियों को भी दिए गए?

5- दूसरी कंपनी कुसुम फिनसर्व को  25 करोड़ का ऋण महज 6.20 करोड की संपत्ति को गिरवी रख दिया। क्या बैंक इस बात की अनुमति देते हैं?

6- कुसुम फिनसर्व शेयर व आयात- निर्यात का कारोबार करती है। ऐसी कौन सी वजह हैं जो अनुभवहीन कंपनी को सस्ता ऋण दिया?

7- क्यों भारत सरकार के मंत्री एक निजी व्यक्ति के बचाव में खड़े हैं?

उन्होंने प्रश्न किया कि क्या आरबीआइ के नियम यह कहते है कि छह करोड़ की संपत्ति रख कर 25 करोड़ का ऋण दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि क्या कारण था कि, जय शाह को 19 करोड़ का इन सिक्योर लोन दिया गया।

राज बब्बर का आरोप है कि जय शाह की कंपनी में विदेशों से भी बड़ी धनराशि आई है। जय शाह की कंपनी में 51 करोड़ की राशि विदेशों से आई है।

उन्होंने कहा कि किसी को भी पता नहीं है कि टेम्पल इंटर प्राइजेज कौन सा कारोबार करती है। इसके साथ ही कोई यह नहीं बता पा रहा है कि इस कंपनी को आखिर 2016 में क्यों बंद करना पड़ा।

 



फिर मुख्यमंत्री योगी से मिले मुलायम की बहू अपर्णा और बेटे प्रतीक

Tues, 10 Oct 2017 12:35 AM 

09_10_2017-aparna-yadav

लखनऊ (BNEWS*) – बताते भी नहीं, छिपाते भी नहीं और रिश्तों की परदेदारी भी हैै। मुलायम की बहू अपर्णा यादव और बेटे प्रतीक यादव ने सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर फिर चर्चाओं का बाजार गरम कर दिया। हालांकि इस मुलाकात पर न मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कुछ कहा गया और न ही अपर्णा और प्रतीक कुछ बोले। पत्रकारों के सवाल हवा में ही रहे और दोनों अपनी गाड़ी में बैठकर सचिवालय से बाहर निकल गए।

यह पहला अवसर नहीं था जबकि अपर्णा ने मुख्यमंत्री योगी से मुलाकात की। भाजपा सरकार बनने के बाद 25 मार्च को भी वह मुख्यमंत्री से मिलने वीवीआइपी गेस्ट हाउस पहुंच गई थीं। इसके बाद ही परिवार में चल रही कलह को देखते हुए यह माना जाने लगा था कि अपर्णा और प्रतीक भाजपा में जा सकते हैैं। इसके बाद 31 मार्च को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कान्हा उपवन जाकर अपर्णा की संस्था जीवाश्रय की ओर से चलाई जा रही गौशाला का निरीक्षण किया था। फिर भाजपा से उनकी नजदीकी को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम हुआ, लेकिन दोनों ने चुप्पी साधे रखी।

सोमवार को लगभग बारह बजे फिर दोनों योगी से मिलने उनके कार्यालय पहुंचे, हालांकि इस बार माना जा रहा है कि वे अपनी संस्था को मिल रहा अनुदान रोके जाने के संदर्भ में गए थे। गौरतलब है कि अनुदान रोके जाने के बाद जीवाश्रय संस्था ने कान्हा उपवन का संचालन रोके जाने की नोटिस नगर निगम को दी है। इसके जवाब में नगर निगम ने भी कहा है कि इस बीच यदि किसी पशु की मौत होती है तो इसकी जिम्मेदार संस्था होगी। मुख्यमंत्री से अपर्णा-प्रतीक की मुलाकात अलग से लगभग बीस मिनट हुई। इसके बाद दोनों बाहर निकले तो पत्रकारों ने सवालों की झड़ी लगा दी, लेकिन वे बिना कुछ बोले निकल गए।

 



US सीनेटर की चेतावनी- ट्रम्प की लापरवाही से हो सकता है ‘तीसरा विश्‍व युद्ध’

Mon, 09 Oct 2017 11:44 PM

09_10_2017-donald_muslimban

वाशिंगटन,(BNEWS*) अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के कारण तीसरा विश्‍व युद्ध हो सकता है, ये आशंका एक रिपब्लिकन सीनेटर ने जताई है। रिपब्लिकन सीनेटर का कहना है कि ट्रम्प अपने कार्यालय से ‘रियलिटी शो’ की तरह व्यवहार कर रहे, इसकी वजह से अमेरिका तीसरे विश्‍व युद्ध की ओर अग्रसर हो रहा है।

रिपब्लिकन सीनेटर ने रविवार को कहा कि वह एक ऐसे राष्ट्रपति के बारे में चिंतित हैं, जो ऐसा कर रहे हैं, जैसे वह कोई नौसिखिया हैं। यह मुझे चिंतित करता है…और उन लोगों को भी चिंता करनी चाहिए, जो हमारे देश की परवाह करते हैं।

सीनेटर की टिप्पणी ट्रम्प के उस बयान के बाद आई है, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि कॉरकर ने इसलिए री-इलेक्‍शन में भाग नहीं लिया, क्‍योंकि उनमें हिम्‍मत ही नहीं है। ट्रम्प ने कहा कि उन्होंने अपने समर्थन के लिए ‘विनती’ की थी, लेकिन मैंने कहा ‘नहीं’ और वह आउट हो गए (उन्‍होंने कहा कि वह मेरी सहायता के बिना जीत ही नहीं सकते थे)।

गौरतलब है कि अमेरिका और उत्‍तर कोरिया इस समय युद्ध के मुहाने पर खड़े नजर आ रहे हैं। उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन मिसाइल परीक्षण बंद करने को तैयार नहीं हैं। इधर डोनाल्‍ड ट्रंप का कहना है कि उत्‍तर कोरिया को समझाते हुए बहुत लंबा समय हो गया है। उत्तर कोरिया के अगले मिसाइल टेस्ट के बाद अमेरिका द्वारा सैन्य बल के प्रयोग से युद्ध छिड़ने की आशंकाओं को भांपते हुए ब्रिटेन ने कथित तौर पर युद्ध की तैयारियां शुरू कर दी है।



पीएम मोदी की पहल पर माफ हो गया आठ लाख का कर्ज, नीलाम होने से बचा घर

Mon, 09 Oct 2017 01:24 (AM)


08_10_2017-modi

पश्चिम चंपारण (BNEWS) – पीएम नरेंद्र मोदी की पहल ने जिले की एक बेटी की न सिर्फ जीवन दशा बदली, बल्कि गरीबी में जी रहे परिवार में खुशहाली ला दी। बेतिया शहर के पुरानी गुदरी मोहल्ला निवासी लालबाबू साह का परिवार खुशियों से झूम रहा है। करीब 15 दिन पहले ही घर में दिवाली मनाई जा रही है। लालबाबू की बेटी चांदनी कुमारी की नजर में सचमुच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रधानसेवक हैं। उनकी पहल पर न केवल बैंक का आठ लाख रुपये का कर्ज माफ हो गया, बल्कि घर भी नीलाम होने से बचा।

शहर के कृषि बाजार समिति प्रांगण में एक छोटी सी फल दुकान चलानेवाले लालबाबू पत्नी, तीन बेटियों व दो बेटो के साथ नोनिया टोली के पास छोटे से घर में किसी प्रकार गुजारा करते हैं। एक पुत्री दिव्यांग है। घर परिवार चलाने में परेशानी थी। ऊपर से बैंक ऋण सुरसा की तरह दिन-प्रतिदिन मुंह फैलाए जा रहा था। कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था।

इसी बीच चांदनी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर स्थिति बयां की। बताया कि किस प्रकार उसका घर नीलाम हो रहा है। परिवार टूट रहा है। पीएम ने पत्र का न सिर्फ संज्ञान लिया, बल्कि जिला प्रशासन से पहल कराकर ऋण माफ कराया।
चांदनी का पत्र प्रधानमंत्री के नाम
चांदनी ने अपने पत्र में मोदी को ‘श्रीमान प्रधानमंत्री जी’ सेबोध्ति करते हुए लिखा, ”मैं चांदनी कुमारी, 23 वर्ष की हो चुकी हूं। मेरे पिता जी शारीरिक  व आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। पिताजी फल का व्यवसाय करते थे। आठ लाख रुपये लोन लेकर कृषि समिति में दुकान भी खोल रखी थी, लेकिन अचानक चुनाव को लेकर फल की दुकान सील कर दी गई। पिताजी का व्यवसाय छूट गया।”

चांदनी ने आगे लिखा कि पिताजी ने किसी तरह पैसे का इंतजाम कर दो किस्तों में सात लाख 99 हजार रुपये जमा किए। इसके बाद भी बैंक ब्याज के आठ लाख रुपये बकाये को लेकर हमारा मकान नीलाम हो रहा है। उसने लिखा, ”हम तीन छोटी बहनें हैं। एक दिव्यांग हैं। हम सभी सड़क पर आ जाएंगे।” उसने पत्र में पीएम मोदी को पितातुल्य व भारत शिरोमणि तक कहा।
पीएम की पहल पर माफ हो गया कर्ज

चांदनी कुमारी ने यह पत्र 2016 में लिखा था। इसपर प्रधानमंत्री कार्यालय ने डीएम को पत्र लिख पहल करने का निर्देश दिया। मामला लोक शिकायत में आने के बाद बैंक व परिवादी चादंनी कुमारी को सुनवाई में आने का नोटिस दिया गया। लोक शिकायत निवारण कार्यालय के डीपीजीआरओ जयशंकर मंडल ने बताया कि सुनवाई के दौरान बैंक की ओर से लोन की रकम में ब्याज के 7 लाख 87 हजार 276 रुपये माफ कर खाता बंद करने का आदेश दिया गया।
सांसद ने की सराहना

स्‍थानीय सांसद डॉ. संजय जायसवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने न केवल गरीबी देखी है, बल्कि झेला भी है। ऐसे कई उदाहरण हैं  जब वे गरीबों के लिए आगे आए हैं। उन्होंने लालबाबू साह के परिवार की चिंता की, पहल कर उनकी पीड़ा को कम किया। ऐसे पीएम पर हमें गर्व है।

मोहल्ले में खुशी की लहर
साधारण सी लड़की के पत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल से मोहल्ले में भी खुशी की लहर है। विनय कुमार सिंह व अनिता कुमारी सहित अनेक लोग चांदनी के हौसले की तारीफ कर रहे हैं। सिमरन गुप्ता ने कहा कि बेटी किसी भी मामले में बेटों से कम नहीं है। वास्तव में वह शाबाशी के लायक है।

Advertisements

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s